मंगलवार, 22 जनवरी 2013

सदी के महानायक



तुम थे स सदी के महानायक
तुमने जानी थी आज़ादी की सही कीमत
मुफ्त में या भीक में मिली चीज़ की कोई महत्ता नही होती
तुम्हें पता था ।
इसी लिये तो तुम चाहते थे लड कर अपना हक लेना
लडे भी ।
कितने दर्द सहे, परायों से अपनों से भी,
जिससे की उम्मीद उसीने मुंह फेर लिया
तुमने नही मानी हार, उठ खडे हुए हर बार।
शत्रु का शत्रु वह अपना मित्र यही कहावत मानी
और धैर्य से की प्रतीक्षा मदद की ।
जिसने दी मदद उससे ली ।
अपने बलबूते पर बनाई आज़ाद हिंद फौ
और चकित कर दिया दुष्मनों को भी ।
और कितनी करीब थी मंजिल जब रास्ता गुम हो गया ।
अपनों ने ही तुम्हें पराया कर दिया ।
चाहे यश किसी और दरवाजे पर चला गया,
पर तुम, सिर्फ तुम्ही थे उस सदी के महानायक ।



20 टिप्‍पणियां:

Arvind Mishra ने कहा…

इसमें कोई शक नहीं -नेता जी को नमन!

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

नेताजी को नमन. काश वे कुछ वर्ष और जीवित रहते (आफिशियली).

रविकर ने कहा…

बढ़िया है दीदी |
आभार-
सादर नमन ||

Alpana Verma ने कहा…

नेता जी को याद किया आप ने इन सुन्दर शब्दों के साथ...हमारा भी उन्हें शत शत नमन है.

Chaitanyaa Sharma ने कहा…

नेताजी को नमन....जय हिन्द

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

सदी के महानायक को नमन .....

Asha Lata Saxena ने कहा…

बहुत उम्दा लिखा है |
आशा

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

नेता जी सुभाष को नमन!

Vinay ने कहा…

अति उत्तम
---
अग्नि मिसाइल: बढ़ती पोस्ट चोरियाँ और घटती संवेदनशीलता, आपकी राय?

रंजू भाटिया ने कहा…

बहुत बढ़िया लिखा है आपने

शिवम् मिश्रा ने कहा…

नेता जी सुभाष चन्द्र बोस को शत शत नमन !

वो जो स्वयं विलुप्तता मे चला गया - ब्लॉग बुलेटिन नेता जी सुभाष चन्द्र बोस को समर्पित आज की ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बात सुनाना तुमको आया,
गर्व जगाना तुमको आया,
राज मान कर बैठे नश्वर, अंग्रेजों को,
दीन हीन बन बैठे अपने, देश जनों को,
शक्ति बची किसमें है कितनी,
सत्य दिखाना तुमको आया।

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

नेता जी को शत शत नमन है.

recent post: गुलामी का असर,,,

Satish Saxena ने कहा…

वे वाकई महानायक थे ...
आभार उन पर लिखने के लिए !

मनोज कुमार ने कहा…

नेता जी के प्रति समर्पित यह रचना बहुत अच्छी लगी।

बेनामी ने कहा…
इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.
अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) ने कहा…

अति सुन्दर ,भावपूर्ण रचना ...

ZEAL ने कहा…

शत शत नमन

Swapnil Shukla ने कहा…

very impressive post .... very well written & fabulous as always
plz . visit -http://swapniljewels.blogspot.in/2013/01/a-kettle-of-glitters.html

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

अपने बलबूते पर बनाई आज़ाद हिंद फौज
और चकित कर दिया दुष्मनों को भी ...

नमन नेता जी को ....!!