मंगलवार, 28 सितंबर 2010

इतिहास


इतिहास अपने को दोहराता है ।
हर सदी में फिर वही होता है ।
वही झूट, वही फरेब, वे ही अत्याचारी और भ्रष्ट लोग ।
और सामान्य जनों की बेहाली ।
अत्याचारियों का राज,
और अच्छे विचारवंत लोगों की कमजोरी ।
इस सब में बिकता, लुटता देश ।
इतिहास किसी को माफ नही करता ।
यदि हमने सबक नही सीखा तो फिर फिर
अपने को दोहराता है इतिहास ।



एक टिप्पणी भेजें