मंगलवार, 21 सितंबर 2010

गणपति बाप्पा मोरया


आज गणेश विसर्जन का दिवस है । दस दिन के बाद गणपति का वापिस लौट जाना कितना खलता है पर वे तो जाते हैं क्यूं कि अगले साल लौट सकें । हमें अपनी आंखों से जतन करने वाले, सूंड से सहलाने वाले, हमारे अपराधों को अपने पेट में डाल कर हमारे ऊपर करुणा बरसाने वाले भगवान गणेश, हमारे बाप्पा आज वापिस चले जायेंगे । उनकी विदाई भी आगमन की तरह ही शानदार होनी चाहिये । इस अवसर पर मेरे स्वर्गीय बडे भाई साहब द्वारा रचित हिंदी में गणेश आरती ( जो मराठी आरती का  अनुवाद है और  तर्ज भी वही है ।) प्रस्तुत है । वे ऋतुरंग नाम से लिखते थे ।
           ।। श्री ।।
सुख कर्ता दुखःहर्ता वार्ता संकट की
तनिक न रहने पाये महिमा है उनकी
सिंदूरी उबटन से लिपटी छबि तनु की
कंठ दमकती माला श्री मुक्ताफल की
जय देव जय देव जय मंगल मूर्ती
हे श्री मंगल मूर्ती
दर्शन से ही मन की
चिंतन से ही मन की
कामना पूर्ती  ।। जय देव जय देव
रत्नजटित सिंहासन गौरी नंदन का
लेप लगायें कुकुम केसर चंदन का
हीरों जडा मुकुट है मस्तक पर बांका
रुनझुन रव नूपुर है, चरनों में हलका ।। जय देव जय देव
लंबोदर पीतांबर बांधा फणिवर से
सूंड सरल, वक्रानन, नयन त्रय मणि से
दास राम का जोहे बाट चिरंतन से
संकट दूर भगायें
ऋतु रंगीन बनाये
प्रभु करुणा घन से ।। जय देव जय देव
शरद काळे (ग्वालियर )
गणपति बाप्पा मोरया ! अगले बरस तू जल्दी आ ।





29 टिप्‍पणियां:

Arvind Mishra ने कहा…

यह गणेश आरती तो अद्भुत भक्ति भाव लिए हुए है ...
जय गणपति ,जय गजबदन जय गणेश

राजभाषा हिंदी ने कहा…

बहुत सुंदर और मन को शांति और स्फुर्ति प्रदान कर देने वाला भजन।बहुत अच्छी प्रस्तुति। राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।
काव्य प्रयोजन (भाग-९) मूल्य सिद्धांत, राजभाषा हिन्दी पर, पधारें

समयचक्र ने कहा…

गणेश आरती बहुत ही बढ़िया लगी पढ़कर बहुत ही आत्मिक शांति का अनुभव कर रहा हूँ .... बहुत सुन्दर प्रस्तुति..
गणपति बब्बा मोरया

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

जय गणेश देवा।

P.N. Subramanian ने कहा…

हमारे केम्पस में तो आरती मराठी में ही होती आई है. भाग सभी लेते हैं. जय गजानन.

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

Hmane kal ganpti visarjan kar diya..

Lmbodar bhagvan ki jay......

मनोज कुमार ने कहा…

बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं!

देसिल बयना-गयी बात बहू के हाथ, करण समस्तीपुरी की लेखनी से, “मनोज” पर, पढिए!

बेनामी ने कहा…

बहुत ही सुंदर अनुवाद किया है आपके भाईसाहब ने...
वही भक्ती-भाव,उर्जा,लगन महसुस हुई...
गणपती बाप्पा मोरया...!

शाहिद मिर्ज़ा ''शाहिद'' ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति.

Unknown ने कहा…

!.....आपने शब्दशः सही अनुवाद किया है आशाजी!....बहुत अच्छा लगा!...गणपति बाप्पा मोर्या...पुढ्च्या वर्षी लवकर या!....

Satish Saxena ने कहा…

बढ़िया देव वंदना ...आनंद आ गया ! शुभकामनायें आपको !

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

गणपति बप्पा मोरया
अगले बरस तो जल्दी आ.........
आपको ढेर सारी शुभकामनाएं

डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali) ने कहा…

गणेश आरती बहुत ही बढ़िया लगी .........

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

उम्दा लेखन के लिए आभार

आपकी पोस्ट ब्लॉग4वार्ता पर

Suman ने कहा…

asha tai ganapati visarjan ke baad kalse mujhe bhi unaki kami bahut mahasus ho rahi hai. bahut sunder aarati hai marathi ka anuvad bhi sunder bana hai...........

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

badi sunder aarti hai.....
गणपती बाप्पा मोरया...!

Asha Lata Saxena ने कहा…

अच्छी प्रस्तुति के लिए बधाई
आशा

Manoj K ने कहा…

आपने अपने भाईसाहब की आरती हमसे साझा की, धन्यवाद.
हमारे यहाँ सिर्फ चतुर्थी को पूजन का ही चलन है, मगर अब नवरात्रा-डंडिया जैसे गणेश महोत्सव भी हमारे शहर में देखने को मिल जाता है.

आभार
मनोज खत्री

Swarajya karun ने कहा…

अनंत चतुर्दशी की हार्दिक शुभकामनाएं .गणपति बप्पा सबका भला करें .

shikha varshney ने कहा…

आपका बहुत बहुत आभार ये आरती मराठी में मुझे बेहद पसंद है .और अब हिंदी रूप तो अतुलनीय है .
जय गणेश ...

निर्मला कपिला ने कहा…

बहुत सुन्दर आरती है । गणपति बब्बा मोरया-- अगले बरस तू जल्दी आना। बधाई आपको।

ZEAL ने कहा…

.

गणपति बाप्पा मोरया ! अगले बरस तू जल्दी आ ।

sundar aarti !

.

सुनीता शानू ने कहा…

गणपति बप्पा मोरिया। हमने भी किया ्था गणपति पूजन। बहुत अच्छा लगा मन को शान्ति मिलती है।

शरद कोकास ने कहा…

आता हेच म्हणायला पाहिजे ...पुढ़्च्या वर्षी पुन्हा या ... येतील तर ते वेळेवरच ..

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सुंदर अनुवाद ...

गणपति सदा दिल में रहते हैं ....

sandhyagupta ने कहा…

गणेशोत्सव पर इससे बढ़िया प्रस्तुति क्या हो सकती थी.गणपति बाप्पा मोरया.

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

अब तक तो नयी पोस्ट आ जानी चाहिए थी आशा जी .....!!

ARUN MISHRA ने कहा…

अत्यंत स्तुत्य प्रयास|स्व.ऋतुरंग की स्मृति को सादर नमन|गणपति बाप्पा उनकी यशकाया को अमर करें|सुन्दर आरती अनुवाद उपलब्ध करने हेतु आपको धन्यवाद|
- अरुन मिश्र.

Shri Sitaram Rasoi ने कहा…

आनंद प्राप्त होगया।
धन्यवाद।
डॉ. ओम