शुक्रवार, 1 अगस्त 2008

मौका परस्त

नफरत करें या प्यार वो हम उनके हो लिये
दो चार दिन को ही सही बस साथ हो लिये ।

अब देखना है करवट किस, बैठता है ऊँट
अपना है क्य़ा, दायें तो कभी बायें हो लिये

जनता का क्या है उसको तो देना किसीको वोट
हम उसके साथ थे कभी, अब इसके हो लिये


सिक्का तो उसका चलता है जो मौका न छोडता
मौका जो छोड दे, उसे फिर क्या तो बोलिये

इस स्यासती अखाडे में पहलवान हैं सभी
हम है उसी के साथ कि जय जिसकी, बोलिये


आज का विचार

अगर हम आज भी बीते हुए कल में जीयेंगे
तो आनेवाले कल को कैसे देख पायेंगे ।

स्वास्थ्य सुझाव

दाँत के दर्द को कम करने के लिये एक टुकडा अद्रक
नमक लगा कर गरम करें और दुखते दाँत के नीचे रख लें
धीरे धीरे चबाते रहें दर्द अवश्य कम होगा ।
एक टिप्पणी भेजें