सोमवार, 21 जनवरी 2008

सेन्सेक्स फिसला


इस शेअर बाजार की ऐसी बदली शक्ल
बस ठिकाने आगई, लालाओं की अक्ल

लालाओं की अक्ल कि सेन्सेक्स ऐसे फिसला
निवेशकों को याद आगया अगला पिछला

और सुनो भैया आगे है फिसलन भारी
रुक जाओ वरना फिर अस्पताल की तैयारी

आज का विचार
जब आवे संतोष धन, सब धन धूरि समान

स्वास्थ्य सुझाव

मन की शांति के लिये करें भ्रामरी प्राणायाम ।
एक टिप्पणी भेजें