शुक्रवार, 8 अगस्त 2014

राखी






सावनी फुहार रिमझिम
चंदा की धुंधली टिमटिम
राखियों की चमकार
बहनों का ढेर सारा प्यार
अहा आई राखी।

अक्षत, रोली, मिठाई,
नारियल, राखी सजाई
दीप अक्षुण्णता का
बहन के मन की खुशी का
ले आई राखी।

मन में मंगल कामना,
चहुँ-ओर सद्भावना
जा पहुँचे सीमा पर
प्रहरी भाई जहां पर
ये स्नेहिल राखी।


आप सब ब्लॉगर भाई बहनों को राखी की शुभ कामनाएँ।

15 टिप्‍पणियां:

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

भाई-बहन के निर्मल प्रेम का प्रतीक पर्व रक्षा बंधन की आपको भी शुभकामनाएं!!

राजीव कुमार झा ने कहा…

बहुत सुंदर प्रस्तुति.
इस पोस्ट की चर्चा, रविवार, दिनांक :- 10/08/2014 को "घरौंदों का पता" :चर्चा मंच :चर्चा अंक:1701 पर.

Suman ने कहा…

बहुत सुन्दर रचना, रक्षा बंधन की ढेर सारी शुभकामनाएं ! वो प्रहरी भाई है इसलिए तो हम चैन से सो पाते है !

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

राखी पर शुभकामनाऐं आशा जी । बहुत सुंदर अभिव्यक्ति ।

शिवनाथ कुमार ने कहा…

मन में मंगल कामना,
चहुँ-ओर सद्भावना
जा पहुँचे सीमा पर
प्रहरी भाई जहां पर
ये स्नेहिल राखी।

स्नेह और प्रेम भाव से सजी राखी
सुन्दर !

रक्षाबंधन की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ !

राजेंद्र कुमार ने कहा…

बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति, रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनायें।

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बढ़िया प्रस्तुति।
रक्षाबन्धन के पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।

Digamber Naswa ने कहा…

निश्छल प्रेम के प्रतीक इस रक्षाबंधन के पावन पर्व की हार्दिक बधाई ...

Prasanna Badan Chaturvedi ने कहा…

बेहतरीन प्रस्तुति के लिए आपको बहुत बहुत बधाई...
नयी पोस्ट@जब भी सोचूँ अच्छा सोचूँ
रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनायें....

चन्द्र भूषण मिश्र ‘ग़ाफ़िल’ ने कहा…

वाह!

Surendra shukla" Bhramar"5 ने कहा…

आदरणीया आशा जी बेहतरीन भाव और प्रस्तुति ..भैया बहना का ये प्रेम अमर रहे ...आप सब को राखी की हार्दिक शुभ कामनाएं
भ्रमर ५

Virendra Kumar Sharma ने कहा…


सुन्दर विवरण राखी का परिवेश संजोये राखी का। घर से सीमा तक।

Satish Saxena ने कहा…

सुंन्दर राखी , मंगलकामनाएं aapko !

संजय भास्‍कर ने कहा…

प्रेम का प्रतीक पर्व रक्षा बंधन...बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत सुन्दर...शुभकामनायें!