गुरुवार, 14 अगस्त 2014

सही मतलब














ए काश, आजादी का हम सही मतलब समझ जायें,
हकों के साथ फर्जों को अदा करते चले जायें,
मुसीबत में कोई जो हो, मदद को उसकी बढ आयें,
तभी ये जश्ने-आज़ादी सही माने में मन पाये।

सभी को शुभ स्वातंत्र्य दिन।






चित्र गूगल से साभार
एक टिप्पणी भेजें