गुरुवार, 1 सितंबर 2011

हे गणराय कुछ हमारी भी सुनो



आज आये हो तो अब रहोगे ना दस दिन
और सुनोंगे ना भक्तों की फरियाद,
तुम्हें तो रहता ही नही कुछ याद ।

कितने वर्षों से पूज रहे हैं तुम्हें
कि कुछ तो हमारी भी सुनी जाये
पर कुछ सुनवाई ही नही हो रही
लगता है भारत सरकार पे कुछ
ज्यादा ही मेहरबानी है तुम्हारी ।

इतने बडे कानों में हमारा रुदन
नही जा रहा कितनी अजीब है बात ?
पेट में डाले जा रहे हो
सरकार के तो सारे अपराध
और हमसे आँखें चुरा रहे हो ।

मत करो ना ऐसा,
तनिक हमारी और भी ये स्नेह
की सूंड बढाओ और करो स्नेह सिंचन
ता कि बोल उठे हमारा भी मन,
गणपति बाप्पा मोरया
मंगल मूर्ती मोरया ।


23 टिप्‍पणियां:

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

इतने बडे कानों में हमारा रुदन
नही जा रहा कितनी अजीब है बात ?
पेट में डाले जा रहे हो
सरकार के तो सारे अपराध
और हमसे आँखें चुरा रहे हो ।

सटीक प्रार्थना ... गणपति ही कुछ करें :):)

kshama ने कहा…

इतने बडे कानों में हमारा रुदन
नही जा रहा कितनी अजीब है बात ?
पेट में डाले जा रहे हो
सरकार के तो सारे अपराध
और हमसे आँखें चुरा रहे हो ।
Pata nahee kyon nahee sunte Ganeshji?

वन्दना ने कहा…

्बहुत सुन्दर व सटीक प्रार्थना।

induravisinghj ने कहा…

गणपति बाप्पा मोरया
मंगल मूर्ती मोरया ।
सुंदर रचना...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

आत्मीय प्रार्थना, जय गणेश देवा।

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

राजनीतिबाजों को सुधार दो...

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

इतने बडे कानों में हमारा रुदन
नही जा रहा कितनी अजीब है बात ?
पेट में डाले जा रहे हो
सरकार के तो सारे अपराध
और हमसे आँखें चुरा रहे हो ।

हाँ ..कुछ करिए बप्पा .... शुभकामनायें

Suman ने कहा…

हे भगवान गणपति
कब तक यूँ ही
बैठे रहोगे
गीत, भजन
सुनते रहोगे
कब तक
लड्डू, मोदक
खाते रहोगे ?
ऐसे भी क्या बैठना
क्या तन तुम्हारा
दुखता नहीं
मन तुम्हारा
थकता नहीं है !

आशा ताई,
शायद ही हमारी प्रार्थना पहुंचे !

sachin patil ने कहा…

अप्रतिम गणेश दर्शन...!अप्रतिम गणेश दर्शन...!!
आणि त्या सोबत सुंदर आत्मचिंतनाचे शब्द चितारले आहेत आशाजी.
कदाचित बाप्पा जर तुमचे ऐकत असेल...!

sachin patil ने कहा…

अप्रतिम गणेश दर्शन...!
आणि त्या सोबत सुंदर आत्मचिंतनाचे शब्द चितारले आहेत आशाजी.
कदाचित बाप्पा जर तुमचे ऐकत असेल...!

Vaanbhatt ने कहा…

भगवान् भी सरकार से मिल गये हैं...

P.N. Subramanian ने कहा…

सामयिक तथा सुन्दर. गणेश जी की आप पर कृपा बनी रहे.

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

गणपति बाप्पा मोरया
मंगल मूर्ती मोरया ।
बहुत सुंदर प्रार्थना

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

नहीं करोगे कुछ भी
दस दिनो के बाद कहेंगे हम
फिर भी...
गणपति बप्पा मोरया
उल्या वर्षी लौकर या!
तनिक भी नहीं कम होगा
तुमसे हमारा प्रेम
तुम निश्चिंत रहना।

sandeep sharma ने कहा…

गजानंद हमेशा आनंद ही करते हैं maam
बेहतरीन प्रार्थना

Babli ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रार्थना! शानदार प्रस्तुती!
आपको एवं आपके परिवार को गणेश चतुर्थी की हार्दिक शुभकामनायें!

JHAROKHA ने कहा…

aadarniy mam
sach ko sarthak karti hui bhav bhakti se paripurn lekin bhaut hi gahre arth liye hue hai aapki yah post.bahut hi sateek tareeke se aapne apne vyangile shabdo se samaaj me panap rahe yatharth ko prastut kiya kiya hai bahut bahut badhai
tatha hardik abhinandan ke saath
jai ganpatti bappa mourrya
poonam

संजय भास्कर ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रार्थना!
गणेश जी की आप पर कृपा बनी रहे....!

Sunil Kumar ने कहा…

सुन्दर. गणेश जी की सटीक प्रार्थना ...

Dr Varsha Singh ने कहा…

बहुत सुंदर प्रार्थना....

मनोज कुमार ने कहा…

बहुत अच्छी प्रार्थना।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

सार्थक और सटीक प्रर्तना गणपति बाप्पा के दरबार में .. लाजवाब ...

Dr (Miss) Sharad Singh ने कहा…

गहन आत्मिक निवेदनमय बहुत सुन्दर प्रार्थना ...