मंगलवार, 23 सितंबर 2014

चलते चलो रे ४ -लासवेगास-



शाम हो चली ती और हमें आगे जा कर रुकना था, ताकि हम लासवेगास के थोडे और पास पहुंच जायें।


यहां नेवाडा और कैलिफोर्निया के सीमा पर बहुत से सोलर प्लांट लगाये गये हैं जहां सूर्य की किरणों को संवर्तित कर के ताप उत्पन्न किया जाता है और इससे बडे बडे बॉयलरों में गर्म हुए पानी से बिजली का उत्पादन होता है। इस परियोजना का उद्घाटन हाल ही में (मार्च) हुआ है, ओबामा जी के वैकल्पिक ऊर्जा उत्पादन कार्यक्रम के अंतर्गत। इससे इस मरुथल में एक बडा सा सरोवर बन गया है।

तो महावी मरुथल  के इस प्रवास में हमने कोई ३५० मील का अंतर तय किया। यह मरुथल मूलतः पर्वत श्रेणियों का बना है इसीसे इसमें ३ से ४  लेवल नजर आते हैं। शाम होते होते हम पहुंचे लासवेगास। जब वेलकम टु लासवेगास का बोर्ड देखा तो बहुत अच्छा लगा। हम रुके  होटेल एक्स केलिबर में। ये भी बहुत सुंदर होचल है। इसका बाहरी आकार प्रकार डिसनी लैंड की तरह का बनाया है। बहुत बडा कसीनो भी है यहां।
हमें बताया गया कि जल्दी जल्दी तैयार हो जाओ नाइट टूर के लिये इसका अलग से टिकिट था २५ डॉलर का पर देखना तो था ही। सब से पहले हम गये होटल सीझर्स पैलेस । वहां एक ५-७ मिनिट का शो देखा सैमसन एन्ड डिलाइला। आप में से बहुतों को पता ही होगा कि डिलाइला को सैमसन बहुत प्यार करता था पर उसने इसके साथ पैसे के लिये विश्वास घात किया और सैमसन को जेल जाना पडा। पर शो जो केवल दस दस मिनिट का था सिर्फ सैमसन को आग में जलता हुआ दिखाया था। (विडियो)
फिर हम गये होटल बेलाजियो जहां पर फव्वारों का सुंदर नृत्य देखा। यहां सुंदर संगीत पर पानी को भिन्न भिन्न आकारों में नाचते देख मन प्रसन्न हो गया आप भी देखिये और लीजीये आनंद। वहां फिर  देखा एक खूबसूरत कांच का सीलिंग जिसमें बहुत से सुंदर सुंदर फूल पत्ते बने हुए थे। यह कोई २००० कांच के फूलों से बना है जो गर्म कांच को ब्लो कर के बनाये गये हैं इनका कलाकार  वॉशिंगटन स्टेट से था। वहीं हमने एक नकली बागीचा और उसमें नकली जानवर देखे।  अपने आकार प्रकार से बडे फूल पत्ते और घोंगे भी। ( वि़डियो)  इस ट्रिप में हमारे साथ हिन्दुस्तानी कपल्स तो थे ही पर एक अकेली जर्मन महिला थी। उससे थोडी सी दोस्ती हो गई थी । उसका मत था कि यह सब बहुत ही नकली और भौंडा लगता है। 
फिर हमने रास्ते में एक ज्वालामुखी का प्रदर्शन देखा। बहुत से लोगों नें डान्स का शो देखा इसका नाम था जुबिली। कुछ लोगों नें कुंग फू पान्डा का लाइव शो देखा । कुंग-फू पांडा मूवी तो मैने अपने पोती के साथ ३-४ बार देखी हुई थी, और जुबिली शो के टिकिट थे ७५ डॉलर प्रति व्यक्ति तो सोचा छोडो। फिर बस ने हमें घुमा कर भिन्न भिन्न होटल बाहर से दिखाये। जिसमें न्यूयॉर्क न्यूयॉर्क, होटेल लक्जर, एम जी एम ग्रेंड होटेल, होटेल रिनेसां, बेलेसिया, हॉलीवुड और  फ्लेमिंगो जिसे उसके मालिक ने अपनी प्रेमिका के नाम से बनाय उसका असली नाम तो वर्जीनिया था पर फ्लेमिंगो उसका स्टेज का नाम था। (विडियो)। ये शोज वेनेशिया होटल में थे। यहीं पर हमने देखा कृत्रिम आसमान। एक नहर में बहुत सुंदर सुंदर नौकाएं तैर रही थीं और कुछ लोग बोटिंग कर रहे थे। हम बडी देर तक वहां खडे रहे फिर एक जगह गाने का कार्यक्रम चल रहा ता एक लडकी फ्लूटनुमा वाद्य बजा रही थी, कुछ लोग नाच रहे थे थोडी देर बैंठ कर हमने भी मज़ा लिया। फिर थोडा घूम कर दूकानें देखीं जो अपने आप में देखने वाली चीज थीं। 
हर होटल का महत्वपूर्ण भाग है यहां पर कसीनो। इन होटलों में रहने खाने के दाम इतने ज्यादा नही होते पर एक बार जुए में फंस गये तो पैसे खो कर ही बाहर आते हैं।


शो देखने वालों का शो खत्म हुआ और हम अपने होटल वापिस आये।खाना खाया और सो गये। कल हमें जाना था ग्रेंड केनियन्स। हमेशा की तरह सूझन का आदेश था कि हमें साडे छै बजे चल देना है तो सब लोग ठीक समय से आ जायें । हमारा सफर छै घंटे जाना और छै घंटे आना होगा और २ से तीन घंटे हम वहां बितायेंगे, देर शाम
वापिस हम इसी होटल आयेंगे और परसों सुबह हमारी वापसी का सफर शुरु होगा।

(क्रमशः)
एक टिप्पणी भेजें